This Website Not Updated..


कोरवा जनजाति - छत्तीसगढ़

कोरवा जनजाति - छत्तीसगढ़


कोरवा जनजाति - छत्तीसगढ़
कोरवा जनजाति - छत्तीसगढ़



कोरवा जनजाति छत्तीसगढ़ के बलरामपुर, सरगुजा, सूरजपुर, रायगढ़, कोरिया जिलों में निवास करते हैं, इस जनजाति के लोग मुख्यात: जंगलों में मचान बनाकर रहते हैं।

 कोरवा जनजाति में मृत संस्कार को 'नवाधावी'  कहते हैं, तथा क्रियाकर्म के समय 'कुमातीभात' परंपरा है। इस जनजाति का पेय पदार्थ हाडिया है।

प्रमुख त्यौहार

बीज बोहनी, कोरा, थेरसा (यह सभी त्यौहार कृषि के दौरान आयोजित की जाती है।

नृत्य

दमनच नृत्य (सबसे भयानक नृत्य होता है)

कोरवा जनजाति का देवी-देवता

खुड़ियारानी






टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां