This Website Not Updated..


नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी, योजना


नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी, योजना
नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी, योजना

नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी, योजना

छत्तीसगढ़ राज्य सरकार का मानना है, कि इस योजना के माध्यम से भूजल सिंचाई और ऑर्गेनिक खेती में मदद मिल सकती है। और किसानों को दोहरी फसल लेने में आसानी, पशुओं को उचित देखभाल  सुनिश्चित हो सकेगी। परंपरागत किचन गार्डन एवं ग्रामीण अर्थव्यवस्था में मजबूती आएगी तथा पोषण स्तर में भी सुधार आएगा।

आइए हम जानते हैं, इनका मतलब - नरवा(नाला), गरवा (पशु और गौठान), घूरवा (उर्वरक) एवं बाड़ी ( बगीचा)।

नरवा

इसके अंतर्गत छोटी तथा बड़ी नालों में चेक डैम निर्माण होगा तथा इसे पानी को संरक्षित किया जा सकता है। और भू-स्तर भी ऊपर आ सकता है।

गरवा

इसके अंतर्गत गोठान बनाए जाएंगे। तथा गौठान में उन्हें चारा पानी उपलब्ध हो सकेगा। तथा इसके तहत गांव में भी पशुधन और उन्हें एक ऐसा डे-केयर सेंटर भी उपलब्ध करवाना है।

घूरवा

इसके अंतर्गत मवेशियों के गोबर योग मल मूत्र का संग्रहण किया जाता है। जिससे कि गोबर गैस एवं खाद बनाएं जा सकेगी।

बाड़ी

इसके अंतर्गत घर से लगा एक बगीचा जिसमें पोषण हेतु फल फूल उगाए जा सके।



Source -  Cgsanket.Online
                  Bharatsanket.co.in


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां